ios Operating System क्या है ? की पूरी जानकारी

सबसे पहले तो आप लोग जान लीजिए कि आई0 ओ0 एस0 iOS का पूरा नाम क्या है ? iOS आई ओ एस का पूरा नाम iPhone Operating System, ios Operating System यह एप्पल आई0 एन0 सी0 Apple Inc. द्वारा विकसित एक ऑपरेटिंग सिस्टम है जो एप्पल के अलग-अलग डिवाइस जैसे : आईफोन iPhone, आईपैड iPad, आईपॉड मिनी iPod Mini,  और आईपॉड टच  iPod Touch, आदि को संचालित करता है, आज दुनिया भर में 1.4 बिलियन डिवाइस  iOS एस आई एस सिस्टम द्वारा संचालित हैं.  जैसा कि हम सभी जानते हैं एप्पल Apple जैसी बहुत बड़ी,विशाल Company को विश्व पटल पर स्थापित करने में और इसके फाउंडर मेंबर Founder Member एवं पूर्व सीईओ CEO Late Steve Jobs की महत्वपूर्ण भूमिका थी स्टीव जॉब्स ने आईओएस पर कार्य करने का प्रारंभ 2005 में ही शुरू कर दिया था, जिसके बाद 2007 में उनको सफलता प्राप्त हुई 9 जुलाई 2007 को इस टीम ने दुनिया के सामने पहला आईफोन प्रस्तुत किया.

जो कि जून 2007 में मार्केट में उपलब्ध हुआ शुरुआती समय में पलकें स्टोर मात्र 500 ऐसे एप्लीकेशन थी जो आईओएस को सपोर्ट करती थी मगर देखते-देखते फोन के लिए अत्यधिक बढ़ गई कि आज इसकी लोकप्रियता 3 मिलियन से भी अधिक हो चुकी है आज के समय में आईफोन सबसे सुरक्षित फोन माना जाता है, आईओएस के डेवलपर स्टीव जॉब्स जी हैं जिन्होंने 2007 में दुनिया का पहला आईफोन लंच किया जो iOS ऑपरेटिंग सिस्टम पर करता था इन्होंने इसका नाम आईफोन iPhone OS x रखा जो काफी अलग था , सन 2008 में एप्पल Apple ने इस सिस्टम का नाम बदलकर iPhone OS फोन रख दिया उसके बाद सन् 2011 में एप्पल नहीं सेंड किया और उसका नाम दिया.

आईओएस के फाउंडर स्टीव जॉब्स ने आईफोन पर 2005 में ही आईएस सिस्टम पर काम शुरू कर दिया था और उन्हें 2007 में सफलता प्राप्त हुई आईओएस मल्टीटेक इंटरफेस Multipal Interface पर वर्क करता है, आईफोन की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसके ऑपरेटिंग सिस्टम को इस तरह डिजाइन किया गया है कि इसमें कोई भी थर्ड पार्टी ऐप रन ना कर सके स्टीव जॉब्स ने 2007 में इसका इंडिया में 1 रन बनाने वाली टीम से मुलाकात करके निकाला था |

आईओएस डिवाइस क्या होता है ? 

iOS, Apple का मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है जो आईफोन iPhone, आईपैडiPad,  और आईपॉड टच iPod Touch डिवाइस को चलाते हैं इन्हें मूल रूप से आईफोन आईएस के रूप में भी जाना जाता है नाम को आईपैड की शुरुआत के साथ बदल लिया गया था   आईओएस यानी आईफोन ऑपरेटिंग सिस्टम एप्पल आईएमसी द्वारा विकसित एक ऑपरेटिंग सिस्टम है यह एंड्रॉयड के बाद दूसरा सबसे ज्यादा उपयोग में आने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम है iOS को C, C+ + ऑब्जेक्टिव सी Objective – C, Swift और Assembly Language जैसे कंप्यूटर भाषाओं से प्रोग्राम में किया गया है,

आई ओ एस का मतलब क्या होता है यह एक प्रचालन तंत्र ऑपरेटिंग सिस्टम है यानी एक ऐसा सॉफ्टवेयर जो किसी कंप्यूटर में मोबाइल के बेसिक फंक्शन जैसे कोई कार्य निर्धारित करने एप्लीकेशन चलाने आदि का उपयोग करने में आपको सहायक हो,

iOS आईओएस केवल एप्पल कंपनी द्वारा निर्मित उपकरणों को ही चलाता है | एप्पल ने अपने स्मार्ट की इंडस्ट्रीज में तहलका मचा दिया है अपने पहले फोन लांच कर लेकिन इससे भी बड़ा रियल गेम चेंजर था iOS यह वही है जिसके ऊपर आज करते हैं चाहे वह आईफोन हो, आईपैड,एप्पल वॉच, आईपॉड ETC.

iOS क्या है ? आईओएस ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है ? | iOS की पूरी जानकारी हिंदी में जाने |

 

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है ?

ऑपरेटिंग सिस्टम छोटे रूप में इसे ओ यस कहते हैं एक ऐसा कंप्यूटर प्रोग्राम होता है जो अन्य कंप्यूटर प्रोग्रामों का संचालन करता है, ऑपरेटिंग सिस्टम उपयोगिता तथा कंप्यूटर सिस्टम के बीच मध्यस्थ का कार्य करता है यह हमारे निदेशक को कंप्यूटर को समझता है ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा ही अन्य सारे प्रोग्राम था हार्डवेयर का संचालन का कार्य किया जाता है, ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना कंप्यूटर एक निर्जीव वस्तु होता है क्योंकि ऑपरेटिंग सिस्टम बेजान हार्डवेयर को को काम करने के लायक बनाता है और हार्डवेयर के ऊपर अन्य सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को भी चलाने लायक  सुविधा प्रदान करता है.

कहने का मतलब यह है, जिस तरह हमारे शरीर को  हमारा दिमाग मैनेज करता है, उसी तरह ही कंप्यूटर को ऑपरेटिंग सिस्टम चलाता है, बिना ऑपरेटिंग सिस्टम के कंप्यूटर एक खाली डिब्बा की तरह लगता है, मुख्य सवाल यह है कि ऑपरेटिंग सिस्टम के सकता हमें क्यों पड़ती है एक कंप्यूटर सिस्टम के ऑपरेटिंग सिस्टम का क्या महत्व है |


आईफोन एप्पल सिस्टम क्या है ?

आज हम आपको आईफोन और आईएस और इससे जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य बताने वाले हैं बहुत ऐसे यूजर्स भी होते हैं जो आईफोन का इस्तेमाल करते हैं परंतु उन्हें आईओएस फुल फॉर्म का ज्ञान नहीं होता है आईएएस फुल फॉर्म जानने के लिए हमारे साथ बने रहें .

सामान्य रूप से देखा जाए तो देश भर में अधिक इस्तेमाल किए जाने वाले मोबाइल एंड्राइड फोन है जो लोगों को कम प्राइस में बहुत सारे फीचर प्रदान कर देता है मगर आईफोन मोबाइल पसंद करने वाले उपभोक्ताओं की भी कोई कमी नहीं है आईफोन विश्व की सबसे पॉपुलर मोबाइल में से एक है क्योंकि यह फोन की तुलना में अधिक सुरक्षित होते हैं और उनके सेटिंग से बहुत अलग होते हैं जितनी इस मोबाइल में मिल जाएगी उतना किसी भी फोन में आपको इतनी जानकारी प्रदान की जाएगी |

आईओएस iOS क्या है ?

एप्पल आईओएस ैकरॉयड द्वारा बनाया गया एक प्रकार का ऑपरेटिंग सिस्टम है, जो एप्पल के सभी मोबाइल डिवाइस पर रन करता है एंड्रॉयड के बाद इस दुनिया के दूसरे नंबर पर मोबाइल की सबसे मशहूर और मजबूत ऑपरेटिंग सिस्टम है.
आईओएस क्या है ?

आईओएस इस्तेमाल करती है एक मल्टीपल गेसचर्स सिस्टम को जिससे व्यक्ति को एक सोशल मीडिया पर काम करने के साथ-साथ दूसरे भी मीडिया को ओपन करके आसानी से काम कर खत्म किया जा सकता है और किसी भी काम को करने के लिए उसे बार-बार मीडिया को मिनिमाइज करने की जरूरत नहीं और यदि कोई भी चीज छोटी दिखाई दे रही है तो उसे दोनों उंगलियों की सहायता से जूम करके आसानी से पढ़ा जा सकता है .

आईओएस अपने सेंसर को बहुत ही मजबूत बनाती है, जिससे व्यक्ति के अंगुलियों को डिटेक्ट कर अपना काम आसानी से कर सकें एप्पल के हार्डवेयर के सभी डिवाइस को कंट्रोल करता है साथ ही सॉफ्टवेयर के सभी कार्यों को यही संभालता है इसका मतलब है, कि आईओएस अपने यूजर्स को Beat एक्सपीरियंस देता है जहां पर सॉफ्टवेयर को हार्डवेयर के साथ चतुराई से जोड़ा जाता है, जिससे यूजर को डिवाइस के हार्ड वेयर से बेहतर परफॉर्मेंस प्राप्त होती है.

एप्पल के एप स्टोर के 2 मिलियन से ज्यादा आईओएस डिवाइस इसके ऐप को डाउनलोड करने के लिए एप्लीकेशन Application’s मौजूद हैं | साथ साथ ही आईओएस ऑपरेटिंग सिस्टम का सबसे मशहूर ऐप स्टोर है स्टोर का कोई भी एप्लीकेशन एंड्राइड सिस्टम में प्रॉपर वर्क नहीं करता है, क्योंकि इसके ऑपरेटिंग सिस्टम से बनाए गए कोई भी एप्लीकेशन एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम को पूरी तरह से अपनी योजना नहीं आता है | क्योंकि आईओएस कोई भी एप्लीकेशन बनाते समय जिस लैंग्वेज का यूज किया जाता है वह लैंग्वेज सिस्टम के द्वारा बनाया जाता है जिससे वह एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम के लैंग्वेज से काफी अलग होते हैं जिससे कोई भी आईओएस ऐप स्टोर के एप्लीकेशन एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम में पूरी तरह से वर्क नहीं करते हैं.

आई ओ एस (iOS) का इतिहास क्या है ? What is the history of IOS
2005 में जब स्टीव जॉब ने आईफोन योजना बनाना शुरू की थी, तो उनके पास मुख्य रूप से दो विकल्प हैं, मैक को छोटा करने का जो एप्पल कंपनी का है एक लैपटॉप था, और दूसरा विकल्प था, आईपॉड को और बड़ा करना इस समस्या को सुलझाने के लिए वह मैक और आईपॉड बनाने वाले बिजनेसमैन से मिले उन्होंने आईफोन को आईओएस बनाने का निर्णय लिया तब साल 2007 में उन्होंने आईफोन के साथ में ऑपरेटिंग सिस्टम आईओएस के साथ काम करना शुरू किया.

IOS ka Itihaas

Yah Ek Aisa operating system hai jo sirf Apple ke hardware ke liye banaya jata hai yah Banaya Gaya Hai, Jo Apple ke kisi bhi hardware Mein Kafi smooth kam karta hai, Vaise To Duniya ka sabse Jyada istemal hone wala operating system Windows or Android Hai per Lekin in iOS ki lokpriyata in Se Kam Nahin Hai

IOS ko operating system ko Uske security ke liye aur uske devices ko mukhya surakshit rakhne ke liye Mana jata hai Kyunki Apple ke suit code (security) ya Uske a operating system se sambandhit Kisi Prakar ki data ko Kisi ke sath Ja Kisi Se share nahin kiya jata hai.

Dusra Karana hai ki Apple ne apne product ka yah Kaha Jaaye To Apne devices aur system ko ek Aisa ecosystem bana Rakha Hai jismein Kisi Bihari operating-system Ki entry Nahin Ki Ja sakti hai jismein Kisi Bihari attack (operating system ki data ko delete karna ya Kisi Prakar ki chhedkhani karna) phone Nahin ka Kisi bhi Prakar ka Khatra Nahin ke barabar hai. Apple company yah Kahe To iOS operating system Apna Software Hardware Khud Hi design Karta Hai Jiske Karan Apple ke product Kafi stable aur aur strong Hote Hain. Apple ki App Store per maujud Sare app iOS Mein Kafi smooth Kamya work Karti Hain kiske Lava iOS mein Kuchh Aise features Hain jo aapko Anya Kisi bhi operating-system mein Nahin milega.
 
Apple To Har Sal iOS ka naya version later rahata Hai per pahle Baat 2007 mein aur Naam kah operating-system banaya tha jo ki ki mac  ka ek varjan tha Jiska Naam Se San 2008 mein Badal kar Rakh Diya Gaya. ! Steve Jobs Ne sabse pahle release Kiya naya operating system iPhone ki ki liye San 2007 Mein unhone isko phone runs on vaise Ek alag Hi varjan Tha mac-os ka Unka idea tha ki iPhone nirbhar karna chahiye wave apps ke upar jo ki behave Karte Hain Niyati baith ke jaise.
Sun 2008 mein Apple ne apne Ek Ko uska naam rename kya aur naya Naam Diya iPhone aur Vahi bad Mein San 2011 Mein Apple Nahin Se rebrand Kiya iOS ke naam se,  yah Dikhane ke liye ki Iske Keval cellphone ke liye Ki Nahin balki dusre mobile devices ke liye istemal Kiya jata hai.

आईओएस का फुल फॉर्म (iOS ka Full Form)

एप्पल कंपनी ने iOS आईओएस लांच किया था जिस का फुल फॉर्म आईफोन ऑपरेटिंग सिस्टम (iPhone Operating System) होता है, जिसको हिंदी में आईफोन प्रचलन तंत्र भी कहा जाता है.
 

IOS ki shuruaat Kaise Hui

 iOS Apple ke pahle touch kendrit mobile operating system ki Ghoshna  9 January 2007 ko ki Gai thi purv so Steve Jobs Ne iPhone pesh kiya tha iOS ko kabhi bhi adhikarik Tor par Manta Nahin Di Gai thi lekin jobs Nahin ise software Kaha Jo Apple ke desktop OS,X ka ek mobile sanskaran chalata hai.

एप्पल आईओएस क्यों / क्या है ?

ios आईओएस क्या है और इसका इतिहास क्या आप जानते हैं कि आईओएस क्या है ? यदि यदि नहीं जानते हैं ? इसका आसान सा अर्थ होता है, कि यह एक ऑपरेटिंग सिस्टम होता है, जो एंड्राइड विंडोज Android, Windows की तरह ही है, जिसमें एप्पल के साथ Devices Run रन करते हैं.

 आई ओ एस iOS  का उद्देश्य क्या है ?
 
Mac ios के आधार पर ऑपरेटिंग सिस्टम जो एप्पल की मायके डेस्कटॉप और लैपटॉप कंप्यूटर की लाइन चलाता है (apple) एप्पल आईओएस को एप्पल उत्पादों की एक श्रृंखला के बीच आसान  निर्बाध नेटवर्किंग के डिजाइन किया गया है.
 

Conclusion

दोस्तों में उम्मीद करता हूं कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख iOS क्या है ? आईओएस ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है ? | iOS की पूरी जानकारी हिंदी में जाने | What is iOS Operating System ? | Know complete information about iOS in Hindi आप लोगों को बहुत पसंद आया होगा, अगर आप लोग को आई ओ एस से संबंधित सभी सभी नए नए फीचर को हिंदी भाषा में विस्तार रूप से जानना है तो आप लोग मेरी वेबसाइट को फॉलो कर लीजिए, अगर आपको हमारे द्वारा दी गई आईओएस से संबंधित जानकारी पसंद आई है तो अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना बिलकुल ना भूलें |
 
अगर आप लोगों को आई ओ एस से संबंधित सेटिंग में किसी प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमें पूछ सकते हैं या आईफोन Mac से संबंधित किसी प्रकार का कोई भी समस्या सॉफ्टवेयर से संबंधित है तो आप हमें कमेंट कर कर पूछ सकते हैं हमें आपके कमेंट का बेसब्री से इंतजार रहेगा.

Leave a Comment